नौकर ने की दरोगा धीरज की हत्या:बोला- बेटी की फीस भरनी थी, सैलरी मांगी तो कर दी मेरी बेइज्जती; इसलिए मार दिया – Accomplice Shot And Killed Sub Inspector In Firozabad Police Have Arrested Him

[ad_1]

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में दरोगा दिनेश मिश्रा हत्याकांड का पुलिस ने 36 घंटे में खुलासा कर दिया। पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर हत्याकांड में प्रयुक्त तमंचा बरामद किया। नौकर धीरज ने ही दरोगा की हत्या की थी। आरोपी का कहना है कि दो महीने से दरोगा वेतन नहीं दे रहे थे। इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। हत्या के बाद खुद ही पुलिस व परिजनों को सूचना दी, जिससे वह बच सके। पुलिस ने आरोपी को जेल भेजा है।

Trending Videos

हत्या का खुलासा करते हुए एसपी ग्रामीण कुमार रणविजय सिंह ने बताया कि दरोगा की हत्या के बाद से ही पूरे जिले में अलर्ट कर दिया गया था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने चार टीमें गठित कर शीघ्र खुलासा करने के निर्देश दिए थे। घटना के बाद सबसे संदिग्ध नौकर धीरज ही लग रहा था। इस कारण उसे हिरासत में लिया गया था। उससे आठ घंटे से ज्यादा कई लोगों ने पूछताछ की। काफी समय तक उसने पुलिस को गुमराह किया, लेकिन सख्ती दिखाई तो वह टूट गया। उसने हत्या की बात स्वीकार की है। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद कर लिया।

यह भी पढ़ेंः- UP: पानी बढ़ा तो चंबल में अठखेलियां करने लगीं डॉल्फिन, दिखे रोमांचक नजारे; सालभर में संख्या भी हुई डेढ़ गुना

एसपी के अनुसार पूछताछ में धीरज ने बताया कि वह दरोगा के पास तीन माह पूर्व अरांव आया था। उनके घर का काम करने व लिखापढ़ी में सहयोग के लिए दरोगा ने उसे 10 हजार रुपये महीने पर रखा था। एक महीने की तो पगार उसे दे दी, लेकिन पिछले दो माह के वेतन को लेकर दरोगा से आए दिन कहासुनी हो रही थी। बताया कि एक दिन दरोगा ने उसकी बेइज्जती कर दी। इसके बाद उसने उन्हें ठिकाने लगाने की सोच ली। 

तीन अगस्त को वह सब्जी लेने के बहाने दरोगा की बाइक पर उनके साथ गया। जब दरोगा चंदपुरा में विवेचना कर रहे थे, तभी उसने गांव में स्थित ठेके से शराब खरीद कर पी। जिस से वह नशे में धुत्त हो गया। उप निरीक्षक उसको बाइक पर बैठाकर चौकी की तरफ चल दिए। इसी दौरान चंदपुरा व पीथेपुर के बीच लघुशंका के बहाने बाइक रुकवाई। वहीं पर दरोगा से रुपये को लेकर कहासुनी हो गई। नशे में होने के कारण उसने अपने पास रखे तमंचा से दरोगा की गर्दन में सटाकर फायर कर दिया, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ेंः- Firozabad: दरोगा व सिपाही सहित तीन लोगों ने घर में घुसकर महिला को पीटा, तीनों के खिलाफ FIR दर्ज करने के आदेश

 

रिटायर्ट दरोगा का बेटा है आरोपी

धीरज उर्फ प्रवीन शर्मां ने पुलिस को बताया कि वह मूलरूप से ग्राम नगला केवल मौजा (कन्थरी) थाना शिकोहाबाद का रहने वाला है। उसके पिता पुलिस में उप निरीक्षक के पद से रिटायर हुए थे। उसका भी कालिन्दी विहार आगरा में मकान है।

बीएससी उत्तीर्ण करने के बाद भी नौकरी नहीं लगी। इसके बाद कुछ दिन एक समाचार पत्र में विज्ञापन विभाग में नौकरी की। इसके बाद एक ट्रांसपोर्टर के पास छह साल तक नौकरी की। कुछ दोस्तों के साथ गलत संगत में पड़ गया था। रोजाना शराब पीने का आदी हो गया। 

यह भी पढ़ेंः- सात दिन में टूटी शादी: हनीमून पर रात को हुआ कुछ ऐसा…साथ रहने से मना कर रही दुल्हन, बात सुन घर वाले भी सन्न

 

इसी आदत के कारण पत्नी भी घर छोड़कर चली गई। सात वर्ष की बेटी आगरा में दादी के पास रहकर पढ़ाई कर रही है। छह माह से वह उप निरीक्षक दिनेश कुमार मिश्रा के साथ रहकर उनका खाना बनाने, कपड़े धोने व अन्य घरेलू कार्य किया करता था। इसके बदले में वे मुझे खाना पीना व खर्चा इत्यादि के पैसे दिया करते थे।

[ad_2]

Source link

Leave a Comment