रणदीप सुरजेवाला के चुनाव प्रचार पर EC ने लगाया 48 घंटे का बैन, हेमा मालिनी पर बयान के बाद एक्शन – EC imposes 48 hours ban on Randeep Surjewala election campaign action taken after statement on Hema Malini ntc

[ad_1]

हेमा मालिनी पर अनुचित टिप्पणी के मामले में इलेक्शन कमीशन ने कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला के खिलाफ एक्शन लिया है. आयोग ने आज शाम 6 बजे से अगले 48 घंटे तक सुरजेवाला के रैली और जनसभा करने पर प्रतिबंध लगा दिया है. इस दौरान वह सार्वजनिक बैठकें, रोड शो, इंटरव्यू और मीडिया में सार्वजनिक बयान नहीं दे सकेंगे. पोल पैनल ने अपने नोटिस में कहा, ‘आयोग, भारत के संविधान के अनुच्छेद 324 और इस संबंध में सक्षम अन्य सभी शक्तियों के तहत, उन्हें (रणदीप सुरजेवाला को) 16 अप्रैल (मंगलवार) शाम 6:00 बजे से 48 घंटे तक किसी भी सार्वजनिक बैठक, सार्वजनिक जुलूस, सार्वजनिक रैलियां, रोड शो और साक्षात्कार, मीडिया में सार्वजनिक बयान देने से रोकता है’.

कांग्रेस महासचिव और राज्यसभा सांसद रणदीप सुरजेवाला ने हरियाणा के कैथल (कुरुक्षेत्र संसदीय क्षेत्र) में इंडिया गुट के उम्मीदवार सुशील गुप्ता के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी की नेता और मथुरा सांसद हेमा मालिनी पर अभद्र टिप्पणी की थी.उन्होंने कहा था, ‘हमें लोग विधायक, सांसद क्यों बनाते हैं? हम हेमा मालिनी तो हैं नहीं कि चाटने के लिए बनाते हैं.’ बयान पर विवाद बढ़ने के बाद सुरजेवाला ने सफाई दी थी और कहा था, ‘मेरा इरादा उनका (हेमा मालिनी) अपमान करना या फिर उन्हें आहत करना नहीं था. वायरल वीडियो में मेरे बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है.’ चुनाव आयोग ने गत 9 अप्रै को कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला को हेमा मालिनी के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया था.

निर्वाचन आयोग ने सुरजेवाला को जारी किया था नोटिस

आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से अपने नेताओं द्वारा सार्वजनिक सभाओं में महिलाओं का सम्मान और प्रतिष्ठा को बनाए रखने की सलाह का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदमों पर भी प्रतिक्रिया मांगी थी. चुनाव आयोग ने सुरजेवाला को 11 अप्रैल तक नोटिस का जवाब देने को कहा था. वहीं खड़गे को 12 अप्रैल तक का समय दिया था. ईसीआई के नोटिस पर प्रतिक्रिया देते हुए रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि बिना तारीख वाला वीडियो छेड़छाड़ करके सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया था. मेरा इरादा अभिनेत्री को अपमानित करने या ठेस पहुंचाने का कतई नहीं था.

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए हेमा मालिनी ने कहा था, ‘उन्हें जो भी टिप्पणी करनी है, करने दीजिए. जनता मेरे साथ है. उनके टिप्पणी करने से क्या होगा? मुझे इससे फर्क नहीं पड़ता. विपक्ष का काम ही बयानबाजी करना है. वे मेरे लिए अच्छी बातें नहीं करेंगे. उन्होंने जो भी कहा है, मुझे उससे फर्क नहीं पड़ता. मैंने अपना काम कर रही हूं.’ बता दें कि हेमा मालिनी वर्तमान में मथुरा संसदीय सीट से बीजेपी की सांसद हैं और पार्टी ने इस लोकसभा चुनाव में भी उन्हें यहां से अपना उम्मीदवार बनाया है. भाजपा ने सुरजेवाला की टिप्पणी को महिलाओं का अनादर करने और उनकी गरिमा को ठेस पहुंचाने वाला बताया और कहा था कि कांग्रेस महिलाओं से नफरत करती है.

[ad_2]

Source link

Leave a Comment