हत्या के बाद नहाया, कपड़े बदले; पुलिस पहुंची तो हंसते हुए बोला-हां…मैंने मारा | Jhansi PUBG Murder Case; Son killed Father And Mother | Jhansi News

[ad_1]

झांसी2 मिनट पहले

मां-पिता की हत्या के बाद आरोपी बेटा घर से नहीं भागा। वो नहाया और कपड़े चेंज किए।

झांसी में पबजी एडिक्ट 26 साल के बेटे ने तवा मारकर मां-बाप की हत्या कर दी। इसके बाद वह नहाया। कपड़े बदले और कमरे में जाकर आराम से बैठ गया। हत्या की सूचना पर जब पुलिस पहुंची तो आरोपी बेटा चारपाई पर बैठा मिला।

पुलिस को देखकर हंसने लगा। इंस्पेक्टर ने पूछा तो पहले कुछ नहीं बोला। फिर बोला- हां, मैंने ही मारा है। आरोपी का नाम अंकित है। बहन नीलम ने बताया कि भाई पबजी का एडिक्ट हो गया था। उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं थी। पिता उसको गेम नहीं खेलने देते थे। इसको लेकर अक्सर लड़ता था। शक है कि इसी विवाद में उसने वारदात की।

मृतक लक्ष्मी प्रसाद की छोटी बेटी उरई में रहकर पढ़ाई कर रही है। वारदात की सूचना मिलने पर वह घर पहुंची तो वह बेहोश होकर गिर पड़ी।

3 बहनों में अकेला भाई, पिता सरकारी स्कूल में प्रिंसिपल थे
वारदात नवाबाद थाना क्षेत्र के पिछौर में हुई। यहां लक्ष्मी प्रसाद (58), पत्नी विमला (55) के साथ रहते थे। वह पलरा के सरकारी स्कूल में प्रिंसिपल थे। बेटा अंकित (26) साथ रहता था। जबकि तीन बेटियों में बड़ी बेटी नीलम और सुंदरी की शादी हो चुकी थी। नीलम का ससुराल पड़ोस की कॉलोनी में है। छोटी बेटी शिवानी उरई में रहकर पढ़ाई कर रही है।

अंकित ने घर पर ही मोबाइल रिपेयरिंग का काम करता था। बहन नीलम ने बताया कि 6 महीने से वो मोबाइल पर गेम बहुत ज्यादा खेलता था। उसका व्यवहार भी बदल गया था। मम्मी-पापा से मारपीट भी करता था। उससे सभी परेशान थे।

इसी घर में बेटे ने मां-पिता की हत्या कर दी। पुलिस ने घर को सील कर दिया है। सबूत जुटाए गए हैं।

बहन ने पड़ोसी को फोन किया, तब वारदात का पता चला
बहन नीलम ने बताया कि शनिवार सुबह वह पिता लक्ष्मी प्रसाद को फोन कर रही थी, लेकिन उनका फोन पिक नहीं हुआ। इसके बाद पड़ोस में रहने वाले काशीराम को कॉल किया। उनसे घर जाकर देखने के लिए कहा। जब घर पहुंचे तो मेन गेट खुला मिला। जैसे ही उन्होंने दरवाजा खोला तो जमीन पर खून फैला था। पिता की सांसें थम चुकी थीं। जबकि मां विमला कराह रही थीं।

पड़ोसी काशीराम ने नीलम और पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहुंची तो मां विमला को तुरंत मेडिकल कॉलेज ले गई। वहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। वहीं, पुलिस घर के अंदर पहुंची तो एक कमरे में अंकित था। पुलिस ने बताया कि वह चारपाई पर आराम से बैठा हुआ था।

हत्या के बाद नहाया, कपड़े बदले
इंस्पेक्टर सुधाकर मिश्रा ने बताया कि अंकित को इस हत्या का कोई अफसोस नहीं था। मानसिक तौर पर वह ठीक नहीं लग रहा था। हत्या के बाद उसने भागने की कोशिश नहीं की। जख्मी हालत में मां फर्श पर पड़ी कराहती रही। पुलिस को शक है कि 12 से 2 बजे के बीच उसने हत्या की है। लाशों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

दोहरे हत्याकांड की खबर लगते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू की।

आरोपी ने रेलवे हॉस्पिटल की जॉब छोड़ी, तब से घर में रहता था
नीलम ने बताया कि कोरोना के वक्त अंकित की जॉब छूट गई थी। वो रेलवे हॉस्पिटल में कंपाउंडर था। लॉकडाउन के दौरान वो घर में ही रहा। इस दौरान मोबाइल और लैपटॉप पर कई-कई घंटे गेम खेलता था।

उसने मां-पिता से पहले भी मारपीट की है। वो उसे गेम खेलने से मना करते थे और दोबारा जॉब करने को कहते थे। माना जा रहा है कि इसी विवाद में उसने दोनों की हत्या कर दी।

आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…
लखनऊ में मां की हत्या, PUBG और गुमनाम किरदार:आरोपी बेटा बोला- घर पर एक व्यक्ति का आना पसंद नहीं था, विरोध पर भी मां नहीं मानी

लखनऊ में एक महिला की हत्या हुई। हत्या का आरोप महिला के 16 साल के बेटे पर है। उसने तीन दिनों तक घर में 10 साल की बहन के साथ मां की लाश को रखा। हत्या की वजह मोबाइल गेम PUBG बताया जा रहा है। पुलिस का कहना है कि PUBG न खेलने देने से नाराज किशोर ने मां को 6 गोलियां दाग दीं। मर्डर के बाद पार्टी भी की। पढ़िए पूरी खबर…

[ad_2]

Source link

Leave a Comment