14 people died in thane girder machine falled during construction of Samruddhi Highway

[ad_1]

महाराष्ट्र के ठाणे के शाहपुर के पास एक गर्डर लॉन्चिंग मशीन के गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई और 2 लोग घायल हो गए हैं। समृद्धि एक्सप्रेस हाईवे के तीसरे चरण के निर्माण में मशीन का इस्तेमाल हो रहा था। न्यूज एजेंसी एएनआई ने शाहपुर पुलिस के हवाले से यह जानकारी दी है।

शाहपुर पुलिस ने इस दुर्घटना की जानकारी देते हुए कहा, “ठाणे के शाहपुर के पास एक गर्डर लॉन्चिंग मशीन गिरने से 14 लोगों की मौत हो गई और तीन घायल हो गए। मशीन का इस्तेमाल समृद्धि एक्सप्रेस हाईवे के तीसरे चरण के निर्माण में किया जा रहा था।”

आपको बता दें कि गर्डर मशीन को जोड़ने वाली क्रेन और स्लैब 100 फीट की ऊंचाई से गिर गए, जिससे बड़ा हादसा हो गया। मृतकों के शवों के साथ-साथ घायलों को भी स्थानीय अस्पताल ले जाया गया। घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य चल रहे हैं।

एक अधिकारी ने कहा कि मंगलवार को महाराष्ट्र के ठाणे जिले में समृद्धि एक्सप्रेसवे के तीसरे चरण के निर्माण के दौरान एक क्रेन पुल के स्लैब पर गिर गई, जिससे 15 श्रमिकों की मौत हो गई और तीन घायल हो गए। एनडीआरएफ के एक अधिकारी ने कहा कि पांच लोगों के फंसे होने की आशंका है और उन्हें बचाने के प्रयास जारी हैं। उन्होंने बताया कि घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आपको बता दें कि यह एक विशेष प्रयोजन वाली मोबाइल गैन्ट्री क्रेन थी जिसका उपयोग पुल निर्माण और राजमार्ग निर्माण परियोजनाओं में प्रीकास्ट बॉक्स गर्डर्स स्थापित करने के लिए किया जाता है। अधिकारी ने बताया कि यह दुर्घटना मंगलवार तड़के मुंबई से करीब 80 किलोमीटर दूर शाहपुर तहसील के सरलांबे गांव के पास हुई।

समृद्धि महामार्ग, जिसका नाम हिंदू हृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग है, मुंबई और नागपुर को जोड़ने वाला 701 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे है। यह नागपुर, वाशिम, वर्धा, अहमदनगर, बुलढाणा, औरंगाबाद, अमरावती, जालना, नासिक और ठाणे सहित दस जिलों से होकर गुजरता है। समृद्धि महामार्ग का निर्माण कार्य महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम द्वारा किया जा रहा है।

नागपुर को शिरडी से जोड़ने वाले पहले चरण का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिसंबर 2022 में किया था। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने 26 मई को इगतपुरी तालुका के भारवीर गांव से शिरडी तक समृद्धि महामार्ग के 80 किलोमीटर लंबे दूसरे चरण का उद्घाटन किया। शिंदे ने मई में कहा था कि तीसरा और आखिरी चरण 26 मई के अंत तक पूरा हो जाएगा। 

हमें फॉलो करें

ऐप पर पढ़ें



[ad_2]

Source link

Leave a Comment