16 जिलों में यलो अलर्ट; 27 दिन में सामान्य से 58% ज्यादा बरसे बादल | Haryana rain alert CM Manohar Lal flood review meeting update Yamuna – Ghaggar River Water Level

[ad_1]

चंडीगढ़एक घंटा पहले

पिछले 24 घंटे में फरीदाबाद में सबसे ज्यादा बारिश हुई है।

हरियाणा के छह जिलों में भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। इन जिलों में उत्तर हरियाणा के पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, कैथल और करनाल शामिल हैं। अन्य जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश के आसार बने हुए हैं। इनमें महेंद्रगढ़, रेवाड़ी, झज्जर, गुरुग्राम, नूंह, पलवल, फरीदाबाद, रोहतक, सोनीपत, पानीपत और सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, जींद, भिवानी, चरखी दादरी शामिल हैं।

अभी तक मेहरबान रहा मानसून
प्रदेश में एक जुलाई से अब तक 205.3 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है, जो सामान्य से 58% ज्यादा है। मानसून सीजन में 1 जून से 27 जुलाई तक 286 मिलीमीटर बारिश हुई है, जो सामान्य से 55% अधिक है। हालांकि अब राहत मिलने के आसार दिखाई दे रहे हैं, वहीं राज्य की दोनों नदियां घग्गर और यमुना में पानी का जलस्तर कम होने लगा है।

फरीदाबाद में सबसे ज्यादा बारिश
24 घंटे में हरियाणा के 17 जिलों में बारिश हुई। औसतन 5.1 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। फरीदाबाद में सबसे ज्यादा 54.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई। हिसार में 28, पलवल में 22 मिलीमीटर बारिश हुई। इस बारिश से शहरों में सड़कों पर 2 फीट तक जल भराव हो गया, जिससे लोगों को आने जाने में भारी परेशानी हुई।

खेतों में जमा हो गई रेत
प्रदेश में यमुना नदी से लगते 6 जिलों के गांवों में फसल ज्यादा तबाह हुई है। नदी के किनारे खेतों में 2 फीट से अधिक रेत जमा हो गई है। इसको लेकर सरकार की ओर से रिपोर्ट भी मांगी गई है। सरकार इस पर विचार कर रही है कि खेतों में जमा रेत बेचने का अधिकार किसानों को दे दिया जाए। इससे किसान बारिश से हुए नुकसान की भरपाई कर सकेंगे।

फिलहाल सरकार यह कह चुकी है कि बारिश-बाढ़ से 100% खराब हुई फसल का 15 हजार रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा।

[ad_2]

Source link

Leave a Comment