Himachal Weather:हिमाचल में तीन एनएच सहित 419 सड़कें और 100 जलापूर्ति योजनाएं ठप, भारी बारिश का अलर्ट – Himachal Weather: Hundreds Of Roads,water Supply Schemes Stalled In State, Heavy Rain Alert


हिमाचल प्रदेश में बारिश का कहर लगातार जारी है। ब्रौनी खड्ड के पास भूस्खलन से नेशनल हाईवे-5 वाहनों की आवाजाही के लिए दो दिन से बंद है। किनौर का सड़क संपर्क शिमला से कटा हुआ है। एनएच बंद होने से रामपुर और झाकडी में बड़ी संख्या में लोग फंसे हुए हैं। एनएच प्राधिकरण के लिए ब्रौनी खड्ड को बहाल करना चुनौती बना हुआ है। प्रदेश में शनिवार सुबह 10:00 बजे तक तीन नेशनल हाईवे सहित 419 सड़कें यातायात के लिए ठप थीं।

Trending Videos

शिमला जिले में सबसे अधिक 177 व कुल्लू में 123 सड़कें बाधित हैं। राज्य में 632 बिजली ट्रांसफार्मर भी ठप पड़े हैं। शिमला जिले में सबसे अधिक 391, मंडी 115 व कुल्लू में 120 बिजली ट्रांसफार्मर बाधित हैं। इसी तरह राज्य में 100 जलापूर्ति योजनाएं भी बाधित हैं।  रामपुर उपमंडल में शुक्रवार देररात से जारी बारिश से कई जगह पर भूस्खलन होने से मकान खतरे की जद में आ गए हैं। चुहाबाग से लेकर खनेरी तक नेशनल हाईवे पर जगह-जगह पहाड़ी से भूस्खलन हुआ है। कई इलाकों में बिजली भी गुल है।  रामपुर के नजदीक कल्याणपुर में भूस्खलन से कई मकानों को खतरा पैदा हो गया है।

वहीं, जिला कुल्लू की सैंज घाटी की देहुरीधार पंचायत के गांव जतेहड़ गांव को पहाड़ी दरकने से खतरा हो गया है। गांव में पांच में से तीन परिवारों ने अपना घर छोड़ दिया और प्राइमरी स्कूल न्यूली में रहने को मजबूर हैं। पहाड़ी दरकने से पत्थर गांव में आ रहे हैं। इससे दो घरों को नुकसान हुआ है और लोगों में दहशत का माहौल है। 
 

उधर, कुल्लू-मनाली वामतट मार्ग में छरूडू में बड़े वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई है। छरूडू में सड़क का 100 मीटर हिस्सा ब्यास में बह गया था। इसके बाद वामतट मार्ग में कुल्लू से नग्गर तक बड़े वाहनों की आवाजाही ठप थी। अब मनाली से कुल्लू की तरफ आने वाले वाहन वाया वामतट मार्ग होकर कुल्लू जा सकते हैं। भुंतर-मणिकर्ण के बीच अभी भी बसें नहीं चल पाई हैं।  

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार प्रदेश के कई भागों में आज भारी बारिश का येलो अलर्ट है। 30 जुलाई से मौसम में कुछ सुधार की संभावना है। हालांकि, 2 अगस्त के लिए फिर भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी हुआ है। प्रदेश में कई भागों में 4 अगस्त तक मौसम खराब बना रह सकता है। शुक्रवार रात को रामपुर शिमला में 72.6, कोटखाई 43.4 और कटौला मंडी में 41.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। वहीं, राजधानी शिमला में आज बादल छाए हुए हैं। बीच-बीच में हल्की धूप भी निकल रही है। सुबह यहां झमाझम बारिश हुई। 

केंद्र सरकार ने हिमाचल प्रदेश के लिए 101.82 करोड़ रुपये जारी किए हैं। इस राशि से जिला चंबा और हमीरपुर की सड़कों की हालात को सुधारा जाना है। जिला हमीरपुर की सड़क बागचल वाया मेहर, बड़सर रोड पर 49 करोड़ और जिला चंबा की शाहपुर, सिहुंता सड़क को अपग्रेड करने में 52.82 करोड़ रुपये खर्च होंगे। नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर ने राशि जारी करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का आभार जताया है। 

सरकार के अनुसार नुकसान का आंकड़ा 8000 करोड़ से अधिक पहुंचने का अनुमान है।इस बार मानसून में 24 जून से 28 जुलाई तक प्रदेश में 5536.15 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हो चुका है। 184 लोगों की जान गई है। 211 लोग जख्मी हुए हैं। बाढ़ से 699 मकान ढह गए, जबकि 7093 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। इस दौरान भूस्खलन की 71 और अचानक बाढ़ की 51 घटनाएं सामने आई हैं।

 



Source link

Leave a Comment