Jyoti Maurya Problem Increased Alok Maurya Investigation Manish Dubey amid Seema Haider Case Update

[ad_1]

ऐप पर पढ़ें

Jyoti Maurya Case: पिछले दो महीने में सोशल मीडिया से लेकर आम घरों तक में जिनकी सबसे ज्यादा चर्चाएं हुई हैं, उनमें पीसीएस अधिकारी ज्योति मौर्य-आलोक मौर्य, पाकिस्तान जाने वाली अंजू और पाक से भारत आने वाली सीमा हैदर शामिल हैं। भले तीनों मामले अलग-अलग हों, लेकिन लोगों ने जमकर इनके बारे में जानने की इच्छा जताई। जून और मिड जुलाई तक ज्योति मौर्य केस पर खूब चर्चा हुई, लेकिन सीमा हैदर और अंजू का केस आने के चलते लोगों की दिलचस्पी ज्योति केस के बारे में जानने में कम हो गई। अब ज्योति मौर्य मामले पर फिर से एक बड़ा अपडेट आया है, जिससे उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। वहीं, आलोक ने जो आरोप लगाए थे उस पर जांच होने के चलते अब उन्हें राहत मिल रही होगी।

समझिए क्या है पूरा मामला

दरअसल, ज्योति मौर्य पर आलोक ने भ्रष्टाचार और करोड़ों रुपये के लेनदेन का आरोप लगाया था। उन्होंने अपनी शिकायत में डायरी भी सौंपी थी, जिसमें हर महीने के लाखों रुपये का लेनदेन के बारे में जिक्र किया गया था।  इसके अलावा भी आलोक ने पत्नी पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। अब प्रयागराज में जांच कमेटी ने ज्योति और आलोक को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करने की तैयारी कर ली है। उन पर लगे आरोपों के बारे में सवाल किए जाएंगे और फिर जो जवाब होगा, उसके हिसाब से आगे कार्रवाई की तैयार होगी। एक महीने में यह रिपोर्ट कमेटी को सौंपी जानी है। दोनों को आमने-सामने बिठाकर पूछताछ के अलावा अलग-अलग भी पूछताछ की जाएगी। 

डायरी को लेकर भी पूछे जाएंगे सवाल!

ज्योति से पूछताछ के दौरान महिला मजिस्ट्रेट भी वहां मौजूद रह सकती हैं और पूरी पूछताछ का वीडियो भी बनाया जाएगा, ताकि बाद में कोई आरोप न लग सके। सूत्रों के अनुसार, ज्योति मौर्य की मुश्किलें आने वाले समय में बढ़ सकती हैं। उनसे कमेटी ने उनके बैंक अकाउंट की भी डिटेल्स मांगी हैं। इसके अलावा, डायरी में जिन-जिन लोगों के नाम दर्ज हैं, उनको भी नोटिस देने की तैयारी है। इस डायरी में कथित रूप से हर महीने मिलने वाले पैसों का जिक्र है, जिसका मूल्य लाखों में था। हर महीने कथित रूप से मार्केटिंग इंस्पेक्टर, सप्लाई इंस्पेक्टर समेत तमाम लोगों से कितने रुपये मिले, यह सब राशि डायरी में लिखी गई है। सूत्रों का दावा है कि यदि ज्योति मौर्य पर उनके पति आलोक द्वारा लगाए गए आरोप जांच में सही पाए जाते हैं तो उनके खिलाफ कड़ा ऐक्शन लिया जा सकता है।

[ad_2]

Source link

Leave a Comment