Site icon Newsbaaz

PM Modi Instructed Ministers Not To Say Anything On India And Bharat Dispute In Council Of Ministers Meeting | India Or Bharat Issue: पीएम मोदी ने भारत और इंडिया को लेकर मंत्रियों को दी हिदायत, सनातन धर्म पर बोले


India or Bharat Issue: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंत्री परिषद की बैठक में बुधवार (6 सितंबर) को भारत और इंडिया विवाद पर मंत्रियों को कुछ न बोलने की हिदायत दी है. सूत्रों ने ये जानकारी दी. शर्तों के साथ प्रधानमंत्री ने सनातन धर्म (Sanatana Dharma) विवाद पर उचित जवाब देने को कहा है.

सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साथ ही अपने मंत्रियों से कहा कि अधिकृत व्यक्ति के अलावा कोई भी मंत्री जी-20 की बैठक पर न बोले. प्रधानमंत्री मोदी ने इसके अलावा बस पूल इस्तेमाल करने की विशेष हिदायत दी है. सूत्रों के अनुसार, पीएम ने कहा है कि 9 तारीख को आयोजित रात्रिभोज में हिस्सा लेने वाले मंत्री अपनी गाड़ियों से संसद भवन परिसर पहुंचे और बसों में बैठकर वेन्यू तक जाएं. 

रात्रिभोज को लेकर पीएम की मंत्रियों को सलाह

रात्रिभोज में आमंत्रित मुख्यमंत्री भी अपने काफिले के साथ संसद भवन परिसर पहुंचेंगे और वहां से बसों में बैठकर ही जाएंगे. रात्रिभोज के लिए मंत्रियों और मुख्यमंत्री को संसद भवन परिसर में शाम 5:50 तक पहुंचना होगा और 6:30 बजे तक वेन्यू पहुंच जाना होगा. 

दिल्ली में जी-20 शिखर सम्मेलन का आयोजन

बता दें कि, भारत की अध्यक्षता में 9 से 10 सितंबर तक दिल्ली में जी-20 शिखर सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है. इसमें अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन सहित दुनिया भर के कई राष्ट्राध्यक्ष भाग ले रहे हैं. 9 सितंबर को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की ओर से जी-20 रात्रिभोज का आयोजन किया जाएगा. 

निमंत्रण पत्र को लेकर हुआ विवाद

इसके निमंत्रण में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को ‘प्रेसीडेंट ऑफ भारत’ के तौर पर संबोधित किया गया है. विपक्षी दलों ने ‘प्रेसीडेंट ऑफ इंडिया’ की जगह ‘प्रेसीडेंट ऑफ भारत’ लिखे जाने पर आपत्ति जताई है. विपक्ष ने दावा किया कि केंद्र सरकार विपक्षी गठबंधन इंडिया से डरकर देश का नाम बदलने में जुटी है. 

सनातन धर्म को लेकर उदयनिधि स्टालिन ने दिया था बयान

मंत्रियों को पीएम मोदी की ओर से सनातन धर्म विवाद पर बोलने की छूट मिली है. दरअसल, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के बेटे और राज्य सरकार के मंत्री उदयनिधि स्टालिन ने एक कार्यक्रम में सनातन धर्म को लेकर विवादित टिप्पणी की थी. उन्होंने सनातन धर्म की तुलना कोरोना वायरस, डेंगू और मलेरिया से करते हुए इसे खत्म किए जाने की बात कही थी.

ये भी पढ़ें- 

‘मुझे कोई किनारे नहीं लगा सकता, लड़ूंगी 2024 चुनाव,’ पार्टी से दरकिनार किए जाने के सवाल पर बोलीं उमा भारती



Source link

Exit mobile version